Uncategorized

टिड्डी दल को लेकर जिला प्रसाशन अलर्ट मोड़ पर कलक्टर सर्वेश्वर भूरे ने लगाई अधिकारियों कि कलास

By- Hitesh Sharma…कोरोना महामारी के बीच अब नई समस्या आ गई है। जिससे किसान परेशान हैरान है, पाकिस्तान से आए टिड्डी दल ने देश के कई राज्यों की मुसीबत बढ़ा दी हैं, अब टिड्डी दल छत्तीसगढ़ पहुँचने की तैयारी में है पड़ोसी राज्य महराष्ट्र और मध्यप्रदेश के बालाघाट गोंदिया भंडारा से होते हुए दल छत्तीसगढ़ के दुर्ग पहुचने वाला है।दरअसल कोरोना काल मे हुए लॉक डाउन की मार सबसे ज्यादा किसी पर पड़ी हैं, तो वो है देश का अन्नदाता किसान कोरोना के कारण किसान द्वारा उगाई गई उसकी फसल और सब्जियों की कीमत भी नही निकल पा रही हैं। जिसके कारण उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है,अभी किसानों को नुकसान से उभारने की तैयारी केंद्र और राज्य सरकारे मिल कर कर ही रही थी, कि पाकिस्तान कीओर से आने वाले टिडडी दल ने किसानों की हालत खराब कर दी है। इस टिड्डी दल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। देश के नौ राज्यों पर टिड्डियों का खतरा मंडरा रहा है। इनमें राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल जैसे राज्य शामिल हैं। आपको बता दे कि दुर्ग जिले में तीन ब्लॉक है। जो खेती के लिए सबसे उन्नत माने जाते है, इन तीनो ब्लॉक में टिड्डियों से बचाव के जरूरी गाईड लाइन भी जारी की जा रही है। तो वही किसानों को इस गम्भीर स्तिथि से निपटने ज्यादा से ज्यादा मात्रा में किट नाशक उपयोग करने के साथ खेतो में धुंआ के साथ किसी युक्त यंत्र उपयोग करने की सलाह दी जा रही है। राज्य सरकार के आदेश पर जिला प्रसाशन ने कमर कस ली है। टिड्डियों के दल से होने वाले नुकसान से सरकार भली भांति परिचित है। इसलिए प्रदेश की भूपेश सरकार सरकार ने इनसे निपटने के लिए कमर कस ली है। तो वही जिला प्रशासन और किसान भी अलर्ट मोड़ पर हैं। टिड्डियों के इन दलों को मानसून से पहले तक खत्म करने की तैयारी है, क्योंकि उस समय खरीफ की फसल तैयार होगी और ये उसको भारी नुकसान पहुंचा सकते हैं। वर्तमान में टिड्डियां राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र में 303 जगहों पर 47 हजार 308 हेक्टेयर फसल को नुकसान पहुंचा चुकी हैं। बहरहाल दुर्ग जिले में भी इस टिड्डी दल से निपटने तैयारी की जा रही है फायर ब्रिगेड के साथ डिजास्टर टीम को अलर्ट रहने कहा गया है जिला कलेक्टर सर्वेश्वर भूरे खुद इस पूरे मामले की गम्भीरता से मोनिटरिंग कर रहे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Ful Bright Scholarships

error: Content is protected !!